कृष्णा गहलावत की मांग पर मुख्यमंत्री ने मृतक बच्चों के परिजनों के लिए घोषित की सहायता राशि -यमुना नदी में डूबने से सेरसा-जांटी के चार बालकों की मृत्यु पर जताया शोक - प्रत्येक पीडि़त परिवार को दी जाएगी दो लाख रुपये की सहायता राशि: कृष्णा गहलावत

कृष्णा गहलावत की मांग पर मुख्यमंत्री ने मृतक बच्चों के परिजनों के लिए घोषित की सहायता राशि
-यमुना नदी में डूबने से सेरसा-जांटी के चार बालकों की मृत्यु पर जताया शोक
- प्रत्येक पीडि़त परिवार को दी जाएगी दो लाख रुपये की सहायता राशि: कृष्णा गहलावत 
राई, 14 अगस्त।             अपने वायदे को पूरा करते हुए चेयरपर्सन एवं पूर्व मंत्री कृष्णा गहलावत ने यमुना नदी में डूबे बच्चों के परिवारों को दो-दो लाख रुपये की सहायता राशि दिलाने का काम किया है। चेयरपर्सन गहलावत की मांग पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सभी पीडि़त परिवारों को दो-दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता राशि देने की घोषणा की है। 
उपरोक्त जानकारी देते हुए राष्ट्रीय परिषद राज्य कृषि विपणन बोर्ड की चेयरपर्सन एवं पूर्व मंत्री कृष्णा गहलावत ने कहा कि उन्होंने बीती रात्रि राई स्थित पीडब्ल्यूडी के विश्राम गृह में मुख्यमंत्री मनोहर लाल से भेंट की। भेंटवार्ता के दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री के साथ राई विधानसभा क्षेत्र के विकास पर विशेष रूप से चर्चा की। विकास कार्यों को गति देने तथा नये विकास कार्यों पर उन्होंने विस्तार से विचार-विमर्श किया। इस दौरान उन्होंने विशेष रूप से यमुना नदी में बीती 5 अगस्त को स्कूली छात्रों के बहने संबंधी दुखद घटना की जानकारी दी। 
चेयरपर्सन कृष्णा गहलावत ने मुख्यमंत्री से मांग की कि सेरसा-जांटी गांवों के चार स्कूली छात्रों की यमुना नदी में बह जाने से मृत्यु हो गई थी। इन दुख के क्षणों मेंं उन्होंने पीडि़त परिवारों से मिलकर सरकारी तौर पर संभव मदद दिलाने का भरोसा दिया था। इस भरोसे पर खरा उतरते हुए उन्होंने बीती संध्या मुख्यमंत्री के माध्यम से पीडि़त परिवारों को आर्थिक मदद दिलाई है। मुख्यमंत्री ने चेयरपर्सन की मांग को तुरंत स्वीकारते हुए पीडि़त परिवारों के लिए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की। 
पूर्व मंत्री कृष्णा गहलावत ने कहा कि करीब डेढ़ सप्ताह पूर्व सेरसा-जांटी के ललित पुत्र सतीश, आदित्य पुत्र कुलदीप तथा अंकित पुत्र प्रदीप और नितिन पुत्र श्रीपाल की यमुना नदी में डूबने से मृत्यु हो गई थी। उन्होंने कहा कि किशोर पुत्रों की मृत्यु का दर्द बहुत बड़ा होता है। जो दुनिया छोड़ जाता है उसे तो वापस लौटाया नहीं जा सकता, किंतु अपने स्तर पर पीडि़तों की थोड़ी-बहुत मदद जरूर की जा सकती है। इस प्रयास के तहत ही पीडि़तों को सहायता दी जा रही है। इन चारों लडक़ों के परिवारों को आर्थिक सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि पीडि़त परिवारों की मदद के लिए जिला पार्षद नंदकिशोर चौहान भी पूर्ण सक्रिय रहे हैं। पार्षद चौहान भी इस दिशा में प्रयासरत थे। 
इस मौके पर मार्केट कमेटी सोनीपत के चेयरमैन कुलदीप सिंह नांगल, जिला पार्षद नंदकिशोर चौहान, जिला कष्ट निवारण समिति के सदस्य रमेश आंतिल, पूर्व चेयरमैन सत्यनारायण आंतिल, मंडल अध्यक्ष डा. विनोद दहिया, भाजपा युवा मोर्चा के जिला महासचिव एडवोकेट रजनीश मलिक, असदपुर के सरपंच मुकेश शर्मा और सेवली के सरपंच रविंद्र आदि गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।